शनि गोचर 2023-2025 ( Shani Gochar 2023-2025)| मेष, कन्या और धनु राशि वाले ढाई साल करेंगे राज

शनि गोचर 2023-2025 ( Shani Gochar 2023-2025):
शनि का यह गोचर मेष राशि, कन्या राशि और धनु राशि के जातकों को शुभ फल देगा। मिथुन राशि, तुला राशि और मकर राशि के जातकों को औसत परिणाम देगा।

शनि का यह गोचर वृषभ राशि, सिंह राशि, मीन राशि के जातकों को प्रतिकूल परिणाम देगा। शनि का यह गोचर वृश्चिक राशि, कुंभ राशि, कर्क राशि को सबसे प्रतिकूल परिणाम देगा।

मैंने इस शनि गोचर 2023-2025 ( Shani Gochar 2023-2025)  से संबंधित भविष्यवाणियों को नौ चरणों में विभाजित किया है। प्रत्येक राशि के लिए भविष्यवाणियां इस प्रकार हैं:

शनि गोचर 2023-2025 (Shani Gochar 2023-2025) – मेष राशि

पिछले ढाई साल से आपके 10वें भाव में शनि ने जीवन को कष्टमय बना दिया होगा।  अब शनि आपके सबसे अनुकूल स्थान लाभ स्थान में जा रहा है। आपके 11वें भाव में शनि का गोचर 16 जनवरी, 2022 और 28 मार्च, 2025 के बीच सौभाग्य प्रदान करेगा।

हो सकता है कि आप 21 अप्रैल, 2023 और 1 मई, 2024 के बीच सौभाग्य का आनंद न ले सकें।  इस एक साल की अवधि में आपको सावधान रहने की जरूरत है। आप 01 मई, 2024 और 28 मार्च, 2025 के बीच  गोल्डन पीरियड का आनंद लेंगे। सभी प्रमुख ग्रह राहु, केतु, शनि और बृहस्पति प्रचुर धन प्राप्ति देने के लिए अनुकूल स्थान पर होंगे। आप जो भी काम करेंगे, उसमें बड़ी सफलता पाएंगे। आपकी लंबी अवधि की इच्छाएं और जीवनभर के सपने सच होंगे।

कुल मिलाकर, मई 2024 से शनि गोचर काल का दूसरा भाग सौभाग्य लेकर आएगा। शत्रुओं से सुरक्षा पाने के लिए नृसिंह कवचम् और सुदर्शन महामंत्र सुन सकते हैं। आप पहले भाग में ललिता सहस्रनाम सुन सकते हैं और दूसरे भाग में विष्णु सहस्रनाम सुन सकते हैं, ताकि बेहतर महसूस कर सकें और सौभाग्य प्राप्त कर सकें।

16 जनवरी, 2023 से 21 अप्रैल, 2023 तक : भाग्यशाली
शनि का आपके 11वें भाव में गोचर बहुत सौभाग्यशाली है। आपके 12वें भाव में बृहस्पति शुभ कार्यों पर व्यय कराएगा। नौकरी का नया ऑफर पाने में सफलता मिलेगी।  अगर आप सिंगल हैं तो इस दौरान शादी कर लेंगे।

21 अप्रैल, 2023 से 04 सितंबर, 2023 तक: आजमाइश का दौर
आपने हाल के दिनों में जिस सौभाग्य का आनंद लिया था, वह समाप्त होने को है, क्योंकि बृहस्पति 21 अप्रैल, 2023 से आपके जन्म स्थान पर होगा। आपके जन्म स्थान पर राहु और बृहस्पति की युति प्रतिकूल परिणाम देगी।

इस चरण में आपका स्वास्थ्य प्रभावित हो सकता है। आपका एनर्जी लेवल कम रहेगा।  आपको इस दौरान अपनी नौकरी बदलने से बचने की जरूरत है। अचल संपत्ति का कोई भी लेन-देन करने के लिए अच्छा समय नहीं है।

04 सितंबर, 2023 से 04 नवंबर, 2023 तक: उल्लेखनीय भरपाई
आपके जन्म स्थान पर वक्री गुरु और राहु की युति इस चरण में अच्छी राहत देगी। आपके काम का दबाव और तनाव कम होगा।  आपकी आर्थिक स्थिति काफी बेहतर हो जाएगी।

4 नवंबर, 2023 से 30 दिसंबर, 2023 तक: अच्छे परिणाम
शनि 4 नवंबर, 2023 को आपके लाभ स्थान 11वें भाव में प्रत्यक्ष जाएगा। इस चरण में बृहस्पति वक्री रहेगा। राहु आपके 12वें भाव में और केतु छठे भाव में आ जाएगा। कुल मिलाकर यह संयोग सौभाग्य की ओर ले जाता है। पारिवारिक वातावरण में चल रहीं समस्याओं का समाधान हो सकता है। किसी भी लंबी अवधि के / कई वर्षों के प्रोजेक्ट को शुरू करने के लिए अच्छा समय है।आपकी आर्थिक स्थिति में काफी सुधार होगा।

शनि गोचर 2023-2025 ( Shani Gochar 2023-2025)

शेष शीघ्र प्रकाशित होगा।
31 दिसंबर ,2023 से 30 अप्रैल 2024 तक

01 मई, 2024 से 09 अक्टूबर, 2024 तक

09 अक्टूबर, 2024 से 15 नवंबर, 2024 तक

15 नवंबर, 2024 से 04 फरवरी, 2025 तक

04 फरवरी, 2025 से 28 मार्च, 2025 तक

जाने कैसा रहेगा 2023 आपके लिए>>वार्षिक राशिफल 2023| सबसे सटीक सबसे सही

शीघ्र प्रकाशित होगा:

शनि गोचर 2023-2025 (Shani Gochar 2023-2025) – वृष राशि 

शनि का आपके 10वें भाव में गोचर प्रतिकूल परिणाम देगा।
शनि धीमी गति से चलने वाला ग्रह है, इसलिए हो सकता है कि आपको तुरंत प्रतिकूल परिणाम का अनुभव न हो। 16 जनवरी, 2023 और 21 अप्रैल, 2023 के बीच का समय केतु की शक्ति और बृहस्पति के अनुकूल स्थिति में होने से अच्छे बदलाव लेकर आएगा।
21 अप्रैल, 2023 और 01 मई, 2024 के बीच आपके 10वें भाव में शनि के कारण काम का दबाव बढ़ेगा। आपके 12वें भाव में बृहस्पति के कारण कमाई कम और खर्चे ज्यादा होंगे। आपको अधिक मेहनत करने की जरूरत होगी, लेकिन लाभ कम मिलेगा।

01 मई, 2024 और 28 मार्च, 2025 के बीच का समय कष्टदायक दिख रहा है। गुरु का गोचर जन्म राशि में, शनि 10वें भाव में और केतु 5वें भाव में होने से भावनात्मक आघात पैदा करेगा।

कुल मिलाकर, शनि के इस गोचर के पहले 3 महीने ही आपको अच्छे परिणाम दे सकते हैं। आने वाला एक साल मिश्रित परिणाम देगा। 01 मई, 2024 के बाद का समय सख्त आजमाइश का दौर  होगा।

16 जनवरी, 2023 से 21 अप्रैल, 2023 तक: काम का दबाव लेकिन वित्तीय सफलता

शनि 10वें भाव में जाएगा, जो इस चरण में काम का दबाव बढ़ाएगा। आप बृहस्पति और केतु के बल से अच्छा स्वास्थ्य बनाए रखने में सफल रहेंगे। इस चरण में प्रमोशन मिलने की अच्छी संभावना है।
आप आर्थिक स्थिति में सुधार से अधिक सुरक्षित महसूस करेंगे। कानूनी मुश्किलों से भी बाहर निकलेंगे।

21 अप्रैल, 2023 से 04 सितंबर, 2023 तक: वित्तीय समस्याएं

बृहस्पति और राहु 21 अप्रैल, 2023 से आपके 12वें भाव में युति बना रहे होंगे। आपके 10वें भाव में शनि काम का अधिक दबाव और तनाव पैदा करेगा। इस चरण में आपका स्वास्थ्य  प्रभावित हो सकता है। आपको इस दौरान अपनी नौकरी बदलने से बचने की जरूरत है।
इस अवधि में शेयर ट्रेडिंग से नुकसान होगा।

04 सितंबर, 2023 से 04 नवंबर, 2023 तक: ठीक समय

आप राहु/केतु गोचर काल के अंतिम छोर पर हैं। आप इस चरण में शानदार भरपाई देखेंगे। गुरु और शनि दोनों वक्री होंगे। अब आप आत्मविश्वास फिर से हासिल करेंगे।  आपको कार्यस्थल पर अच्छे बदलाव देखने को मिलेंगे। आपकी आर्थिक स्थिति काफी बेहतर हो जाएगी।

4 नवंबर, 2023 से 30 दिसंबर, 2023 तक: खराब समय

शनि प्रत्यक्ष आपके 10वें भाव में और केतु 5वें भाव में जाएगा। आपको चिंता और तनाव होगा। हो सकता है कि आपके बच्चे आपकी बात न सुनें। आपके परिवार में अवांछित बहस होगी।
आप आपको मौजूदा स्तर पर अपनी नौकरी में बने रहने के लिए अपनी उम्मीदों को कम करने की जरूरत है। कारोबारियों को अचानक झटका लग सकता है।  जल्दबाजी में लिया गया कोई भी फैसला जीवन में आर्थिक संकट पैदा कर सकता है।

शेष शीघ्र प्रकाशित होगा।
31 दिसंबर ,2023 से 30 अप्रैल 2024 तक

01 मई, 2024 से 09 अक्टूबर, 2024 तक

09 अक्टूबर, 2024 से 15 नवंबर, 2024 तक

15 नवंबर, 2024 से 04 फरवरी, 2025 तक

04 फरवरी, 2025 से 28 मार्च, 2025 तक

शनि गोचर 2023-2025 (Shani Gochar 2023-2025) – मिथुन राशि

आपके 8वें भाव में शनि ने पिछले ढाई साल में जीवन को कष्टमय बना दिया होगा। आप 2020 और 2022 में जिस कष्टदायक अवधि से गुज़रे, उसके लिए कोई शब्द नहीं हैं। अब आपने पीड़ादायक अष्टम शनि को पूरा कर लिया है। आपके 9वें भाव में शनि पिछले गोचर की तुलना में काफी बेहतर परिणाम देगा। आपके चिंता, तनाव और मानसिक दबाव में कमी आएगी। आप भावनात्मक शक्ति को पुनः प्राप्त करेंगे।

बृहस्पति का आपके लाभ स्थान में 21 अप्रैल, 2023 और 01 मई, 2024 के बीच गोचर सौभाग्य लेकर आएगा। आप अपनी आर्थिक समस्याओं से निजात पा लेंगे।

01 मई, 2024 और 28 मार्च, 2025 के बीच आपके अधिक खर्चे होंगे, क्योंकि बृहस्पति आपके व्यय स्थान 12वें भाव में, राहु 10वें भाव में और केतु चौथे भाव में होगा। इस दौरान सौभाग्य की कोई अनुकूलता नहीं होगी। लेकिन आप समस्याओं को मैनेज करने में सक्षम होंगे।

आप भाग्य वृद्धि के लिए विष्णु सहस्रनाम सुन सकते हैं और भगवान बालाजी से प्रार्थना कर सकते हैं। आप बेहतर महसूस करने के लिए सुदर्शन महामंत्र और नृसिंह कवचम् सुन सकते हैं।

16 जनवरी, 2023 से 21 अप्रैल, 2023 तक: अच्छा समय

हार्दिक बधाई! आपने कष्टदायक अष्टम शनि चरण को सफलतापूर्वक पार कर लिया है। आपका आत्मविश्वास और ऊर्जा का स्तर बढ़ेगा। हाल के दिनों में आपने जो कुछ अनुभव किया (झेला) है, उसे भुला पाएंगे।  आप अपनी नौकरी को सुरक्षित रखने में सफल रहेंगे। आपकी आर्थिक स्थिति में सुधार होने लगेगा।

21 अप्रैल, 2023 से 04 सितंबर, 2023 तक: अच्छा भाग्य

बृहस्पति और राहु आपके लाभ स्थान 11वें भाव में युति कर रहे होंगे। शनि 17 जून, 2023 को कुंभ राशि में वक्री होगा, जिससे आपकी सेहत में सुधार होगा। जिस प्रमोशन और वेतन वृद्धि का लंबे समय से इंतजार कर रहे थे, वह अब होगी। इस दौरान कारोबारियों को अच्छा बदलाव देखने को मिलेगा। आपकी आर्थिक स्थिति बहुत अच्छी दिख रही है। विशेष रूप से 17 जून, 2023 से स्टॉक ट्रेडिंग लाभदायक होगी। यदि आपकी अनुकूल महादशा चल रही है, तो आपको स्पेक्युलेटिव ट्रेडिंग अमीर बना देगी। अचल संपत्ति का कोई भी लेन-देन करने के लिए अच्छा समय है।

04 सितंबर, 2023 से 04 नवंबर, 2023 तक: मिश्रित समय

बृहस्पति आपके 11वें भाव में वक्री होगा और शनि 9वें भाव में वक्री होगा। आपके 11वें भाव में राहु अच्छे परिणाम देगा। लेकिन पंचम भाव में केतु परेशानी का कारण बन सकता है। आपको मिश्रित परिणाम देखने को मिलेंगे।

4 नवंबर, 2023 से 30 दिसंबर, 2023 तक: थोड़ा खराब समय

राहु आपके 10वें भाव में और केतु चौथे भाव में होगा। बृहस्पति वक्री होगा, लेकिन शनि प्रत्यक्ष गति में रहेगा। यह अवधि आपके वित्तीय मामलों में थोड़े झटके का कारण बन सकती है, क्योंकि राहु और बृहस्पति दोनों अच्छी स्थिति में नहीं होंगे। आपके पिता का स्वास्थ्य प्रभावित हो सकता है। 

शेष शीघ्र प्रकाशित होगा।
31 दिसंबर ,2023 से 30 अप्रैल 2024 तक

01 मई, 2024 से 09 अक्टूबर, 2024 तक

09 अक्टूबर, 2024 से 15 नवंबर, 2024 तक

15 नवंबर, 2024 से 04 फरवरी, 2025 तक

04 फरवरी, 2025 से 28 मार्च, 2025 तक

शनि गोचर 2023-2025 (Shani Gochar 2023-2025) – कर्क राशि

आपके 7वें भाव में शनि गोचर ने  पिछले ढाई वर्षों में रिश्तों में और स्वास्थ्य में समस्या पैदा की होगी। आपको मई 2022 से जनवरी 2023 तक अनुकूल बृहस्पति गोचर के कारण अच्छी राहत मिली होगी। शनि आपके अष्टम स्थान 8वें भाव में जा रहा है। इसे ‘अष्टम शनि’ भी कहा जाता है।

आपको अष्टम शनि अवधि के दौरान सावधान रहने की जरूरत है,  आपको यह समझना होगा कि अगले ढाई साल तक सफलता की धीमी चाल रहेगी।

आप 16 जनवरी, 2023 और 21 अप्रैल, 2023 के बीच अपने भाग्य स्थान पर बृहस्पति के बल के कारण बहुत अच्छा प्रदर्शन करेंगे।

आपके अष्टम स्थान 8वें भाव में शनि का प्रभाव 21 अप्रैल, 2023 और 01 मई, 2024 के बीच अधिक महसूस किया जाएगा। आप पर बहुत अधिक मानसिक दबाव और तनाव रहेगा।  आपकी आर्थिक स्थिति प्रभावित होगी। कारोबारियों पर आर्थिक समस्या के कारण काफी दबाव रहेगा।

01 मई, 2024 और 28 मार्च, 2025 के बीच लाभ स्थान पर बृहस्पति के अनुकूल गोचर और तीसरे भाव में केतु गोचर के कारण उल्लेखनीय राहत मिलेगी। आपकी आर्थिक स्थिति काफी बेहतर हो जाएगी।

आप अपने सौभाग्य में वृद्धि के लिए भगवान बालाजी से प्रार्थना कर सकते हैं और विष्णु सहस्रनाम सुन सकते हैं। आप मई 2023 और मार्च 2025 के बीच अपनी आध्यात्मिक शक्ति बढ़ाने के लिए भगवान शिव से प्रार्थना कर सकते हैं और ललिता सहस्रनाम सुन सकते हैं।

16 जनवरी, 2023 से 21 अप्रैल, 2023 तक:  परिश्रम के साथ साथ अच्छा भाग्य

आपके लिए 16 जनवरी, 2023 से ढाई साल  आपके लिए अष्टम शनि शुरू हो गया, आपको कार्यों को पूरा करने के लिए कड़ी मेहनत करने की जरूरत है। लेकिन आप कार्य को पूरा करने में सफल रहेंगे और इस चरण में प्रतिफल पाएंगे। आप अपने कार्यस्थल पर अच्छा प्रदर्शन करना जारी रखेंगे। जिस प्रमोशन का लंबे समय से इंतजार कर रहे थे, वह अब हो सकती है। आप अपनी आर्थिक स्थिति से खुश रहेंगे। 

21 अप्रैल, 2023 से 04 सितंबर, 2023 तक:  आजमाइश का दौर

शनि पहले से ही आपके अष्टम स्थान पर विघ्न डालने के लिए गोचर कर रहा है। अब गुरु आपके 10वें भाव में जा रहा है। आप राहु और केतु से भी किसी अच्छे परिणाम की उम्मीद नहीं कर सकते।
आपके स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा।  विद्यार्थी चुनौतीपूर्ण समय से गुजरेंगे। कामकाजी पेशेवर अधिक काम के दबाव और ऑफिस की राजनीति से प्रभावित होंगे। यदि आप सावधान नहीं हैं, तो इस अवधि में अपनी नौकरी गंवा देंगे।

04 सितंबर, 2023 से 04 नवंबर, 2023 तक: सफलता

4 सितंबर, 2023 को बृहस्पति वक्री हो जाएगा, जो आपको काफी राहत देगा। वक्री शनि शुभ फल देगा। राहु और केतु के कारण होने वाली समस्याओं की तीव्रता बहुत कम हो जाएगी। आपको अपनी स्वास्थ्य समस्याओं का शीघ्र उपचार प्राप्त होगा। आपको अपनी पिछली गलतियों का अहसास होगा। आप अचल संपत्ति निवेश कर सकते हैं, लेकिन 04 नवंबर, 2023 से पहले डील पूरी करना सुनिश्चित करें।

4 नवंबर, 2023 से 30 दिसंबर, 2023 तक: खराब समय

यह आजमाइश का दौर होने जा रहा है। अष्टम शनि का प्रभाव अधिक महसूस होगा। आपके 9वें भाव में राहु चिंता और तनाव बढ़ाएगा। आप कठोर शब्द बोल सकते हैं, जिससे आपके परिवार में रिश्तों पर बुरा असर पड़ेगा।  खर्च बढ़ने से आपकी कमाई प्रभावित होगी।

शेष शीघ्र प्रकाशित होगा।
31 दिसंबर ,2023 से 30 अप्रैल 2024 तक

01 मई, 2024 से 09 अक्टूबर, 2024 तक

09 अक्टूबर, 2024 से 15 नवंबर, 2024 तक

15 नवंबर, 2024 से 04 फरवरी, 2025 तक

04 फरवरी, 2025 से 28 मार्च, 2025 तक

शनि गोचर 2023-2025 (Shani Gochar 2023-2025) – सिंह राशि

शनि अब आपके 7वें भाव में जाएगा। इसे कंटक शनि कहते हैं। इस चरण में आपको अपने स्वास्थ्य और संबंधों में समस्या होने की आशंका हो सकती है।आप अपनी गलती न होने के बावजूद शिकार हो सकते हैं।

21 अप्रैल, 2023 और 1 मई, 2024 के बीच का समय आपको अपने जीवन में सहजता से आगे बढ़ने में मदद करेगा। एक-एक करके समस्याओं को सुलझाने के लिए अच्छा समय होगा। आपको अपने प्रयासों में बड़ी सफलता मिलेगी। आप अपनी नई नौकरी से खुश रहेंगे। आप अपनी आर्थिक समस्याओं से निजात पा लेंगे।

आपको 01 मई, 2024 और 28 मार्च, 2025 के बीच का समय मिश्रित परिणाम देगा।  आपको पेट की समस्या और आंखों के रोग भी हो सकते हैं। आपका कामकाजी जीवन औसत रहेगा।

आप धन में भाग्यवृद्धि के लिए विष्णु सहस्रनाम सुन सकते हैं और भगवान बालाजी से प्रार्थना कर सकते हैं। बेहतर महसूस करने के लिए सुदर्शन महामंत्र और नृसिंह कवचम् सुन सकते हैं।

16 जनवरी, 2023 से 21 अप्रैल, 2023 तक: बेकार समय

आप अष्टम गुरु के ताप से गुजर रहे होंगे। अब शनि भी आपके 7वें भाव में जा रहा है। इसे कंटक शनि कहा जाता है। कोई भी महत्वपूर्ण निर्णय लेने के लिए अपनी कुंडली पर निर्भर रहने की जरूरत है।

आपके परिवार के साथ  टकराव और वाद-विवाद होगा। प्रेमीजन पीड़ादायक ब्रेकअप के दौर से गुजर रहे होंगे। कारोबारियों को  आर्थिक नुकसान होगा।

21 अप्रैल, 2023 से 04 सितंबर, 2023 तक: शानदार समय

‘अष्टम गुरु’ चरण को पार करने के लिए हार्दिक बधाई। शनि 17 जून, 2023 को कुंभ राशि में वक्री होगा, जिससे आपकी सेहत में सुधार होगा। नौकरी बदलने के लिए अच्छा समय है। कारोबारियों को इस दौरान अच्छा बदलाव देखने को मिलेगा।आपकी आर्थिक स्थिति अब काफी बेहतर हो जाएगी।

04 सितंबर, 2023 से 04 नवंबर, 2023 तक: मिलाजुला समय

बृहस्पति 9वें भाव में वक्री होगा और शनि 7वें भाव में वक्री होगा। आपके 9वें भाव में राहु परेशानी पैदा करेगा। आपके तीसरे भाव में केतु चीजों को बहुत आसान बना देगा। आपको मिश्रित परिणाम देखने को मिलेंगे।  जिन लोगों की कुंडली में कालसर्प दोष है, उन्हें इस चरण में अधिक सावधान रहने की जरूरत है।

4 नवंबर, 2023 से 30 दिसंबर, 2023 तक: समस्या

कंटक शनि का प्रभाव अधिक महसूस होगा। चूंकि लंबी अवधि में बृहस्पति का गोचर अच्छा दिख रहा है, इसलिए आप अपने कार्यस्थल पर अच्छा प्रदर्शन कर रहे होंगे। भले ही काम का दबाव रहेगा, लेकिन आप उसे मैनेज कर लेंगे।

शेष शीघ्र प्रकाशित होगा।

रूठी प्रेमिका को मनाएं: स्त्री वशीकरण मंत्र | प्रेमी प्रेमिका वशीकरण मंत्र

शनि गोचर 2023-2025 (Shani Gochar 2023-2025) – कन्या राशि

आपके 5वें भाव में शनि गोचर के कारण पिछले ढाई वर्षों में आप मानसिक पीड़ा और अवसाद से पीड़ित रहे हो सकते हैं। आपके लिए अच्छी खबर है। शनि आपके रोग शत्रु स्थान छठे भाव में गोचर कर रहा है। शनि लंबी अवधि में ढाई साल तक सौभाग्य प्रदान करेगा।
आप चिंता और अवसाद से बाहर निकलेंगे। आप 16 जनवरी, 2023 और 21 अप्रैल, 2023 के बीच व्यक्तिगत समस्याओं और संबंधों के मसलों को सुलझा लेंगे। आप अच्छा स्वास्थ्य प्राप्त करेंगे। 

लेकिन 21 अप्रैल, 2023 के बाद चीजें ठीक नहीं जा सकती हैं। बृहस्पति का आपके 8वें भाव में गोचर बाधाओं  का कारण बनेगा। 21 अप्रैल, 2023 और 01 मई, 2024 के बीच एक साल तक आपका स्वास्थ्य और रिश्ते प्रभावित रहेंगे।

एक बार जब आप 01 मई, 2024 तक पहुँच जाएंगे तो जीवन में सहज ढंग से आगे बढ़ेंगे। आप जो कुछ भी करेंगे, उसमें बड़ी सफलता देखने की उम्मीद हो सकती है। आप अपने प्रगतिपथ पर अडिग रहकर आगे बढ़ेंगे।

यदि आप 21 अप्रैल, 2023 और 01 मई, 2024 के बीच सावधान रहें, तो शनि का यह गोचर काल सौभाग्य लेकर आएगा। आपके जीवनभर के सपने और लंबी अवधि की इच्छाएं पूरी होंगी। शत्रुओं से सुरक्षा पाने के लिए नृसिंह कवचम् और सुदर्शन महामंत्र सुन सकते हैं। आप बेहतर महसूस करने के लिए मई 2024 तक ललिता सहस्रनाम तथा मई 2024 और मार्च 2025 के बीच विष्णु सहस्रनाम सुन सकते हैं।

16 जनवरी, 2023 से 21 अप्रैल, 2023 तक: स्वर्णिम काल

आपके 7वें भाव में बृहस्पति और छठे भाव में शनि राजयोग काल बनाएंगे। आप जो कुछ भी करेंगे, उसमें सफलता मिलेगी। आपके आसपास के लोग आपकी तेज बढ़त, प्रसिद्धि और सफलता से ईर्ष्या करेंगे। आपके कारोबार में आश्चर्यजनक बढ़ोतरी होगी। आपका नया प्रॉडक्ट लॉन्च मीडिया का ध्यान आकर्षित करेगा।

21 अप्रैल, 2023 से 04 सितंबर, 2023 तक: खराब

आपने हाल के दिनों में जिस सौभाग्य का आनंद लिया, वह समाप्त होने को है, क्योंकि बृहस्पति 21 अप्रैल, 2023 से आपके 8वें भाव में होगा। राहु और केतु मिश्रित परिणाम देंगे। शनि अच्छी स्थिति में होते हुए भी बृहस्पति के प्रतिकूल प्रभाव से आपकी रक्षा नहीं कर सकता। लेकिन शनि चीजों को सामान्य कर सकता है। अच्छी खबर यह है कि भले ही यह कष्टदायक अवधि है, लेकिन चीजें आपके काबू में रहेंगी।

04 सितंबर, 2023 से 04 नवंबर, 2023 तक: कुछ भरपाई

आप राहु/केतु गोचर काल के अंतिम छोर पर हैं। आप इस चरण में शानदार भरपाई देखेंगे। गुरु और शनि दोनों वक्री होंगे अब आप फिर से आत्मविश्वास हासिल करेंगे। आपको कार्यक्षेत्र में अच्छे बदलाव देखने को मिलेंगे। आपकी आर्थिक स्थिति काफी बेहतर हो जाएगी।

4 नवंबर, 2023 से 31 दिसंबर, 2023 तक: अच्छा समय

शनि आपके रोग शत्रु स्थान छठे भाव में 4 नवंबर, 2023 को प्रत्यक्ष जाएगा। इस चरण में बृहस्पति वक्री रहेगा। राहु आपकी जन्म राशि में वापस चला जाएगा, जबकि केतु 7वें भाव में होगा। कुल मिलाकर, यह संयोजन आपको थोड़े समय के लिए अच्छे परिणाम देगा। कृपया ध्यान दें कि जनवरी 2024 और अप्रैल 2024 के बीच का समय भावनात्मक समस्या पैदा करेगा।आपकी आर्थिक स्थिति में काफी सुधार होगा।

शनि गोचर 2023-2025 (Shani Gochar 2023-2025) – तुला राशि

अर्धाष्टम शनि की अवधि पूरी करने के लिए बधाई। आपके चौथे भाव में शनि के कारण पिछले ढाई वर्षों में आपको बहुत कुछ सहन करना पड़ा हो सकता है। शनि आपके पूर्व पुण्य स्थान 5वें भाव में जा रहा है, जो अगले ढाई वर्षों में स्वास्थ्य, करियर और वित्तीय समस्याओं की तीव्रता कम कर सकता है।

चूंकि बृहस्पति और राहु अच्छी स्थिति में नहीं हैं, इसलिए आप 16 जनवरी, 2023 और 21 अप्रैल, 2023 के बीच आजमाइश के दौर में होंगे। आपकी जन्म राशि पर केतु अच्छा आध्यात्मिक ज्ञान देगा।

आप 21 अप्रैल, 2023 और 01 मई, 2024 के बीच अपने 7वें भाव में बृहस्पति की शक्ति के कारण बहुत अच्छा प्रदर्शन करेंगे। आप एक-एक करके सभी समस्याओं का समाधान करेंगे। आप अपने रिश्ते से खुश रहेंगे।

01 मई, 2024 और 28 मार्च, 2025 के बीच का समय एक और आजमाइशी चरण होने जा रहा है। आप भावनात्मक रूप से प्रभावित होंगे। आपके करीबी लोगों से धोखा मिल सकता है।कुल मिलाकर शनि का यह गोचर आपको अच्छे और बुरे दोनों परिणाम देगा।

आप वित्त में भाग्य वृद्धि के लिए विष्णु सहस्रनाम सुन सकते हैं और भगवान बालाजी से प्रार्थना कर सकते हैं। आप बेहतर महसूस करने के लिए सुदर्शन महामंत्र और नृसिंह कवचम् सुन सकते हैं। हनुमान चालीसा का पाठ करें।

16 जनवरी, 2023 से 21 अप्रैल, 2023 तक: पारिवारिक समस्याएं

आप पर मानसिक दबाव और तनाव हाल के दिनों की तुलना में कम होगा। मुझे रिश्तों में आपकी समस्याओं के लिए कोई अच्छी राहत नजर नहीं आ रही है। यदि आपने अपनी नौकरी गंवा दी है, तो एक और अस्थायी नौकरी मिल जाएगी।

21 अप्रैल, 2023 से 04 सितंबर, 2023 तक: अच्छी भरपाई

आप 7वें भाव में बृहस्पति के गोचर के कारण अपने जीवन में शानदार सुधार और अच्छे बदलाव देखेंगे। राहु के साथ बृहस्पति की युति राहु के प्रतिकूल प्रभावों को निष्फल कर देगी। आपकी जन्म राशि पर बृहस्पति की दृष्टि अतीत की दर्दनाक घटनाओं को भुलाने के लिए अच्छी शक्ति देगी।

आप चिंता और अवसाद से बाहर निकल आएंगे। नौकरी के नए अवसर तलाशने के लिए अच्छा समय है। इस चरण में आपका स्टॉक निवेश अच्छा मुनाफा देगा। लेकिन अगर आप स्पेक्युलेटिव डे ट्रेडिंग कर रहे हैं, तो आपको अपनी कुंडली से और सहयोग की जरूरत हो सकती है।

04 सितंबर, 2023 से 04 नवंबर, 2023 तक: औसत समय

गुरु आपके 7वें भाव में और शनि 5वें भाव में वक्री होगा। आपके 7वें भाव में राहु और जन्म स्थान पर केतु इस चरण में अधिक समस्याएं पैदा कर सकते हैं। आपको परिवार की जरूरतों को समझने के लिए अपने परिवार के साथ अधिक समय बिताने की जरूरत है। कार्यस्थल पर आपके ऊपर काम का बोझ ज्यादा रहेगा

4 नवंबर, 2023 से 30 दिसंबर, 2023 तक: खराब समय

शनि आपके 5वें भाव में प्रत्यक्ष जा रहा है, जो यह दर्शाता है कि आपको भावनात्मक परेशानी ही सकती है। आपके परिवार के साथ संबंध प्रभावित हो सकते हैं। आप अपने सोशल सर्कल या कार्यस्थल पर  गलत व्यक्ति की ओर भी आकर्षित हो सकते हैं।आपकी कमाई अच्छी दिख रही है। लेकिन पैसे बचाने में आपकी रुचि कम हो सकती है।

सम्पर्क करें/परामर्श लें

शनि गोचर 2023-2025 (Shani Gochar 2023-2025) – वृश्चिक राशि

आपके तीसरे भाव में शनि के गोचर ने पिछले ढाई साल में आपको शानदार बढ़त और सफलता दी होगी। 16 जनवरी, 2023 को शनि के आपके चतुर्थ भाव में जाने के साथ ही अर्धाष्टम शनि की शुरुआत होगी। भले ही यह अच्छी खबर न हो, लेकिन आपको तुरंत कोई नकारात्मक परिणाम दिखाई नहीं देगा।

आपके 5वें भाव में बृहस्पति और छठे भाव में राहु 16 जनवरी, 2023 और 21 अप्रैल, 2023 के बीच सौभाग्य देगा। आप अच्छा स्वास्थ्य बनाए रखने में सक्षम होंगे।

21 अप्रैल, 2023 और 01 मई, 2024 के बीच अर्धाष्टम शनि के प्रतिकूल प्रभाव अधिक महसूस होंगे। यह कई बाधाओं और निराशाओं से भरा सख्त आजमाइश का चरण होने जा रहा है।

आपको 01 मई, 2024 और 28 मार्च, 2025 के बीच का समय प्रतिकूल परिणामों की तुलना में अधिक अच्छे परिणाम देगा। आपकी आर्थिक स्थिति काफी बेहतर हो जाएगी।

कुल मिलाकर, मेरा सुझाव है कि अपने जीवन में अच्छी तरह से सेटल होने के लिए 21 अप्रैल, 2023 से पहले के समय का उपयोग करें। आप अपने सौभाग्य में वृद्धि के लिए भगवान बालाजी से प्रार्थना कर सकते हैं और विष्णु सहस्रनाम सुन सकते हैं। आप मई 2023 और मार्च 2025 के बीच अपनी आध्यात्मिक शक्ति बढ़ाने के लिए भगवान शिव से प्रार्थना कर सकते हैं और ललिता सहस्रनाम सुन सकते हैं।

16 जनवरी, 2023 से 21 अप्रैल, 2023 तक: सौभाग्य (

आपके लिए 16 जनवरी, 2023 से ढाई साल के लिए अर्धाष्टम शनि शुरू होगा।  आपके 5वें भाव में बृहस्पति और छठे भाव में राहु बहुत अच्छे दिख रहे हैं। इस चरण में आपको सौभाग्य देखने को मिलेगा।
आपको अधिक फाइबर और प्रोटीन युक्त भोजन लेने की जरूरत है। संतान के जन्म से आपके पारिवारिक वातावरण में खुशियां बढ़ेंगी।आप अपनी आर्थिक स्थिति से खुश रहेंगे।

21 अप्रैल, 2023 से 04 सितंबर, 2023 तक: करियर की समस्याएं

आपके छठे भाव में बृहस्पति और चौथे भाव में शनि स्वास्थ्य को  प्रभावित करेगा। आप पेट की समस्याओं, लीवर की समस्याओं, हाई कोलेस्ट्रॉल और डाइबिटीज से पीड़ित हो सकते हैं।  आपके प्रमोशन और वेतन वृद्धि में देरी होगी। आपको इस दौरान अपनी नौकरी बदलने से बचना होगा।

04 सितंबर, 2023 से 04 नवंबर, 2023 तक: शानदार समय
आप इस चरण में शानदार भरपाई देखेंगे। आपके काम का दबाव और तनाव कम होगा। आपकी आर्थिक स्थिति काफी बेहतर हो जाएगी।  इस चरण में आपके स्टॉक निवेश बहुत बेहतर प्रदर्शन करेंगे। लेकिन आपको इस समय का उपयोग अपनी होल्डिंग्स से बाहर निकलने के लिए करने की जरूरत है।

4 नवंबर, 2023 से 30 दिसंबर, 2023 तक: खराब समय

यह सख्त आजमाइशी चरण होने जा रहा है। अर्धाष्टमा शनि का प्रभाव अधिक महसूस होगा। आपके छठे भाव में राहु चिंता और तनाव बढ़ाएगा। नई नौकरी की तलाश के लिए अच्छा समय नहीं है।
खर्च बढ़ने से आपकी कमाई प्रभावित होगी। आपको कार और घर के रख-रखाव पर पैसा खर्च करना होगा।  आपको इस चरण में ट्रेडिंग करने से पूरी तरह से बचने की जरूरत है।

शनि गोचर 2023-2025 (Shani Gochar 2023-2025) – धनु राशि

साढ़े सात साल की साढ़े शनि पूरी करने के लिए बधाई। आपके तीसरे भाव में शनि का गोचर अगले ढाई साल में जीवन में सौभाग्य लाएगा। शनि का यह गोचर जीवन में नई शुरुआत करने जा रहा है।

16 जनवरी, 2023 और 21 अप्रैल, 2023 के बीच का समय अच्छे परिणाम देगा। आप अपनी समस्याओं को एक-एक करके सुलझा लेंगे।  नई चीजों को आजमाने के लिए समय अच्छा दिख रहा है, जैसे किसी अलग क्षेत्र में करियर बनाना, नया कारोबार शुरू करना, नया भवन निर्माण शुरू करना आदि।

ग्रहों की स्थिति 21 अप्रैल, 2023 और 01 मई, 2024 के बीच राजयोग बनाएगी। आपके तीसरे भाव में शनि और 5वें भाव में बृहस्पति कुंडली को बहुत शक्तिशाली बना देगा। आप जो भी काम करेंगे, उसमें सफलता पाएंगे।

आपको 01 मई, 2024 और 28 मार्च, 2025 के बीच का समय मिश्रित परिणाम देगा। आप अपने लंबी अवधि के लक्ष्यों और उद्देश्यों में सफलता देखेंगे। आपका कामकाजी जीवन औसत रहेगा। आपके करियर और धन में औसत बढ़त होगी। स्पेक्युलेटिव ट्रेडिंग के लिए अच्छा समय नहीं है।

अपने जीवन में अच्छी तरह से सेटल होने के लिए आपको यह जानने की जरूरत है कि 21 अप्रैल, 2023 और 01 मई, 2024 के बीच की स्वर्णिम अवधि का लाभ कैसे उठाया जाए। आप धन में भाग्य-वृद्धि के लिए विष्णु सहस्रनाम सुन सकते हैं और भगवान बालाजी से प्रार्थना कर सकते हैं। आप बेहतर महसूस करने के लिए सुदर्शन महामंत्र और नृसिंह कवचम सुन सकते हैं।

16 जनवरी, 2023 से 21 अप्रैल, 2023 तक: अच्छा समय

साढ़े शनि पूरी होने पर हार्दिक बधाई। आपने 16 जनवरी, 2023 को साढ़े शनि के साढ़े सात साल पूरे कर लिए हैं। इस चरण में आपको अच्छे परिणाम दिखाई देने लगेंगे। बृहस्पति, शनि और केतु सौभाग्य प्रदान करेंगे। बढ़त की मात्रा और भरपाई की गति जन्म कुंडली बल और जारी महादशा के आधार पर अलग-अलग होगी।

आपका स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। यदि आप सिंगल हैं, तो उपयुक्त साथी खोजने के लिए अच्छा समय है। लंबे समय से इंतजार कर रहे दंपतियों को संतान की प्राप्ति होगी।  नया कारोबार शुरू करने के लिए अच्छा समय है। आपकी आर्थिक स्थिति में सुधार होता रहेगा। अब स्टॉक ट्रेडिंग लाभदायक होगी। लेकिन अपने कुंडली सहयोग के बिना स्पेक्युलेटिव ट्रेडिंग और ऑप्शंस ट्रेडिंग से बचें।

21 अप्रैल, 2023 से 04 सितंबर, 2023 तक: स्वर्णिम समय

आपके तीसरे भाव में शनि, 5वें भाव में राहु और बृहस्पति की युति और 11वें भाव में केतु इस चरण में राज योग बनाएंगे। आप जो कुछ भी करेंगे, उसमें अच्छी सफलता की उम्मीद हो सकती है। इस चरण में आपका स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। आप अपने विकास पर अडिग रहकर आगे बढ़ते जाएंगे।

आप स्वास्थ्य, परिवार, रिश्ते, करियर, कारोबार, धन, व्यापार और निवेश सहित अपने जीवन के कई पहलुओं में बड़ी सफलता देखेंगे। यदि आप मीडिया, खेल या राजनीति में हैं, तो प्रसिद्धि मिलेगी और सेलिब्रिटी बनेंगे। अगर आप अपनी फिल्में रिलीज करते हैं तो ये सुपरहिट हो जाएंगी।

आपको स्पेक्युलेटिव ट्रेडिंग से अप्रत्याशित लाभ होगा। यदि आपकी अनुकूल महादशा चल रही है तो इस चरण में धनवान बनेंगे। प्रचुर धन प्राप्ति के जोरदार संकेत मिल रहे हैं। आपको विरासत, लॉटरी, जुआ, या यहां तक कि किसी मुकदमे या बीमा सेटलमेंट के जरिए फायदा होगा।

04 सितंबर, 2023 से 04 नवंबर, 2023 तक: व्यक्तिगत समस्याएं

इस चरण में शनि और बृहस्पति दोनों वक्री होंगे। राहु का आपके 5वें भाव पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा। आप रिलेशनशिप के मसलों के कारण भावनात्मक रूप से प्रभावित हो सकते हैं। आपके काम का दबाव मध्यम रहेगा। आपके लंबी अवधि के स्टॉक निवेश अच्छा प्रदर्शन करेंगे। लेकिन स्पेक्युलेटिव ट्रेडिंग के लिए अच्छा समय नहीं है।

4 नवंबर, 2023 से 30 दिसंबर, 2023 तक: अच्छा समय

शनि 4 नवंबर, 2023 को प्रत्यक्ष आपके तीसरे भाव में जाएगा। इस चरण में बृहस्पति वक्री रहेगा। अब आपको अच्छे परिणाम महसूस होंगे। आप इस अवधि का उपयोग कोई महत्वपूर्ण निर्णय लेने के लिए कर सकते हैं। आपका स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। आपकी आर्थिक स्थिति में काफी सुधार होगा। छुट्टी की योजना बनाने के लिए अच्छा समय है। आपको शेयर निवेश में अच्छा मुनाफा होगा।

जानिए कैसा रहेगा वर्ष 2023

शनि गोचर 2023-2025 (Shani Gochar 2023-2025) – मकर राशि

कष्टदायक जन्म शनि अवधि पूरी करने के लिए बधाई। आपने पिछले दो सालों में जो कष्ट सहन किया है, उसे बयान करने के लिए शब्द नहीं हैं। आप अभी भी पूरी तरह से बाहर नहीं हैं, क्योंकि साढ़े सात साल की साढ़े सती के अंतिम चरण में होंगे। आपके दूसरे भाव में शनि काम के दबाव को कम करेगा, लेकिन ख़र्चों को बढ़ा देगा।
चूंकि बृहस्पति और राहु भी प्रतिकूल स्थिति में हैं, इसलिए 16 जनवरी, 2023 और 21 अप्रैल, 2023 के बीच आपका जीवन कई पहलुओं से प्रभावित होगा।

बृहस्पति का आपके चौथे भाव में गोचर 21 अप्रैल, 2023 और 01 मई, 2024 के बीच थोड़ी राहत दे सकता है। आपके लिए 01 मई, 2024 और 28 मार्च, 2025 के बीच सौभाग्य का चरण होगा, जब बृहस्पति आपके पूर्व पुण्य स्थान 5वें भाव में होगा। बृहस्पति 7 साल बाद आपकी जन्म राशि पर दृष्टि डालेगा। इस चरण में साढ़े सती से कोई हानिकारक प्रभाव नहीं होगा।

आपके तीसरे भाव में राहु का गोचर बढ़त और सफलता को गति देगा। आप जो कुछ भी करेंगे, उसमें बड़ी सफलता पाएंगे।  शत्रुओं से सुरक्षा पाने के लिए नृसिंह कवचम् और सुदर्शन महामंत्र सुन सकते हैं। आप सौभाग्य प्राप्ति के लिए अप्रैल 2023 तक ललिता सहस्रनाम और मई 2023 तथा मार्च 2025 के बीच विष्णु सहस्रनाम सुन सकते हैं।

16 जनवरी, 2023 से 21 अप्रैल, 2023 तक: थोड़ी राहत

आपको अपनी स्वास्थ्य समस्याओं का सही उपचार मिलेगा। यदि आपने नौकरी गंवा दी है, तो एक और अस्थायी नौकरी पाएंगे। किसी भी स्टॉक ट्रेडिंग और जोखिम भरे निवेश से बचें।

21 अप्रैल, 2023 से 04 सितंबर, 2023 तक: कुछ भरपाई

अच्छी खबर यह है कि बृहस्पति आपके चौथे भाव में रहेगा। इससे थोड़ी राहत मिल सकती है। लेकिन दूसरे भाव में शनि, चौथे भाव में राहु और चौथे भाव में केतु आपके सौभाग्य को निष्फल कर देगा। इस चरण में आपकी समस्याएं ठीकठाक जारी रहेंगी। लेकिन उनकी तीव्रता कम होती जाएगी।

04 सितंबर, 2023 से 04 नवंबर, 2023 तक:अच्छी भरपाई

यह चरण आपको लंबे समय बाद अच्छी भरपाई देगा। आपको अच्छे परिणाम देखने को मिलेंगे। आप अपनी पिछली गलतियों को महसूस करेंगे और उन्हें सुधारेंगे। कारोबारियों को पिछली तकलीफदेह घटनाओं को भुलाने के लिए समय मिलेगा। यदि आपकी अनुकूल महादशा चल रही है, तो अपने स्टॉक निवेश में मामूली सुधार देखेंगे।

4 नवंबर, 2023 से 30 दिसंबर, 2023 तक:वित्तीय समस्याएं

शनि का आपके दूसरे भाव में प्रत्यक्ष जाना आर्थिक परेशानी बढ़ा देगा। इस अवधि में आपका स्वास्थ्य अच्छा बना रहेगा। आप अपने कार्यस्थल पर औसत बढ़त देखेंगे। यदि आपकी अनुकूल महादशा चल रही है तो बच्चे की योजना बनाना ठीक है। आप अपने स्टॉक निवेश में थोड़ी भरपाई देखेंगे। कोई भी रियल एस्टेट निवेश करने से बचें, क्योंकि आपको नकली दस्तावेजों से धोखा दिया जा सकता है।

शनि गोचर 2023-2025 (Shani Gochar 2023-2025) – कुम्भ राशि

आपके लिए जनवरी 2020 से साढ़े सात साल के लिए साढ़े सती चलनी शुरू हो चुकी है। अब आप 16 जनवरी, 2022 को “जन्म शनि” नामक साढ़े सती के दूसरे चरण में प्रवेश कर रहे हैं।  आप 16 जनवरी, 2022 और 28 मार्च, 2025 के बीच लंबे आजमाइशी दौर में होंगे।

21 अप्रैल, 2023 तक जन्म शनि की शुरुआत समस्या उत्पन्न करने वाली नहीं है। चूंकि आपके दूसरे भाव में बृहस्पति है। आपके तीसरे भाव में राहु सौभाग्य देगा। आप चिंता, तनाव और शारीरिक बीमारियों से बाहर निकल आएंगे।

आपकी जन्म राशि पर शनि का प्रभाव 21 अप्रैल, 2023 और 01 मई, 2024 के बीच अधिक महसूस होगा। आप पर बहुत अधिक मानसिक दबाव और तनाव रहेगा। आपको स्वास्थ्य को अधिक महत्व देने की जरूरत है।

आपके चौथे भाव में बृहस्पति के गोचर के कारण 01 मई, 2024 और 28 मार्च, 2025 के बीच चीजें थोड़ी बेहतर होंगी। मैं यह नहीं कह रहा कि आपके पास सौभाग्य की कोई अनुकूलता नहीं होगी। यह भी आजमाइश का चरण है, लेकिन समस्याओं की तीव्रता कम होगी।

आप अपने सौभाग्य में वृद्धि के लिए भगवान बालाजी से प्रार्थना कर सकते हैं और विष्णु सहस्रनाम सुन सकते हैं। आप मई 2023 और मार्च 2025 के बीच आध्यात्मिक शक्ति बढ़ाने के लिए भगवान शिव से प्रार्थना कर सकते हैं और ललिता सहस्रनाम सुन सकते हैं।

16 जनवरी, 2023 से 21 अप्रैल, 2023 तक:कड़ी मेहनत के साथ सौभाग्य

आपके लिए 17 जनवरी, 2023 से “जन्म शनि” चरण शुरू हो रहा है। आप 28 मार्च, 2025 को जन्म शनि से बाहर निकल आएंगे। जन्म राशि में शनि का गोचर आपसे बहुत मेहनत कराएगा। लेकिन इस चरण में बृहस्पति और राहु के सहयोग से आपका भाग्य अच्छा रहेगा। अचल संपत्ति निवेश करना ठीक है। यदि आप शेयर बाजार में पैसा निवेश करने की योजना बना रहे हैं, तो अपने कुंडली बल की जांच कराने की जरूरत है

21 अप्रैल, 2023 से 04 सितंबर, 2023 तक:चौतरफा समस्याएं

पहले से ही शनि आपकी जन्म राशि पर अधिक बाधाओं का कारण बनने के लिए गोचर कर रहा है। अब बृहस्पति आपके तीसरे भाव में जाएगा, जो कड़वा अनुभव देने वाला है। आपके 9वें भाव में केतु चीजों को और मुश्किल बना देगा। आपके तीसरे भाव में केवल राहु आपके दोस्तों के जरिए तसल्ली दिला सकता है। कामकाजी पेशेवर अधिक काम के दबाव और ऑफिस की राजनीति से प्रभावित होंगे।

04 सितंबर, 2023 से 04 नवंबर, 2023 तक: सफलता

4 सितंबर, 2023 को बृहस्पति वक्री हो जाएगा, जो काफी राहत देगा। शनि पहले ही वक्री है और शुभ फल देगा। आपके तीसरे भाव में राहु इस दौरान तेजी से सौभाग्य देगा। आपको अपनी स्वास्थ्य समस्याओं को लेकर तेजी से स्वास्थ्य-लाभ मिलेगा।  आपको मेंटॉर मिलेगा या अपने कार्यस्थल पर किसी सीनियर सहकर्मी से सहयोग मिलेगा, जिससे बेहतर महसूस करेंगे। आपको अपनी पिछली गलतियों का अहसास होगा। आप अपनी वित्तीय स्थिति को सावधानी से संभालेंगे।

4 नवंबर, 2023 से 30 दिसंबर, 2023 तक:खराब समय

यह सख्त आजमाइश का दौर होने जा रहा है। जन्म शनि का असर अधिक महसूस होगा। आपके दूसरे भाव में राहु चिंता और तनाव बढ़ाएगा। आप कठोर शब्द बोल सकते हैं, जिससे परिवार में रिश्तों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा। आपको इस चरण में ट्रेडिंग से पूरी तरह बचने की जरूरत है। रियल एस्टेट में भी पैसा निवेश करने के लिए अच्छा समय नहीं है।

शनि गोचर 2023-2025 (Shani Gochar 2023-2025) – मीन राशि

शनि आपके व्यय स्थान 12वें भाव में प्रवेश कर रहा है। इसलिए आपके लिए अगले साढ़े सात साल के वास्ते साढ़े सती शुरू होगी।
आपको इस बात को लेकर परेशान होने की जरूरत नहीं है कि समस्त साढ़े सात साल प्रतिकूल रहेंगे। साढ़े सात साल के दौरान शनि का अशुभ प्रभाव छिटपुट होता है। यदि आप जानते हैं कि आपका समय कब अच्छा दिख रहा है तो अपने कदम सुरक्षित रूप से उठा सकते हैं।

आपके दूसरे भाव में राहु और जन्म राशि पर बृहस्पति 16 जनवरी, 2023 और 21 अप्रैल, 2023 के बीच कड़वे अनुभव देगा।  21 अप्रैल, 2023 को हो रहा बृहस्पति का गोचर सौभाग्य लेकर आएगा। आपके दूसरे भाव में बृहस्पति 12वें भाव में शनि के प्रभाव को कम करेगा तथा 21 अप्रैल, 2023 और 01 मई, 2024 के बीच अच्छे परिणाम देगा। आपको अपने प्रयासों में बड़ी सफलता मिलेगी।

01 मई, 2024 और 28 मार्च, 2025 के बीच का समय मिश्रित परिणाम देगा। साढ़े सती का प्रभाव अधिक महसूस होगा। स्पेक्युलेटिव ट्रेडिंग में जोखिम लेने से बचें। आपकी आर्थिक स्थिति प्रभावित होगी।  आप धन में वृद्धि के लिए विष्णु सहस्रनाम सुन सकते हैं और भगवान बालाजी से प्रार्थना कर सकते हैं। आप बेहतर महसूस करने के लिए सुदर्शन महामंत्र और नृसिंह कवचम् सुन सकते हैं।

16 जनवरी, 2023 से 21 अप्रैल, 2023 तक:निराशा और असफलता

आपको 16 जनवरी, 2023 से अगले साढ़े सात साल तक साढ़े शनि से गुजरना होगा। शनि, बृहस्पति, राहु और केतु की  प्रतिकूल स्थिति में हैं, इसलिए यह चरण निराशा और असफलताओं से भरा है।  कोई भी महत्वपूर्ण निर्णय लेने के लिए अपनी कुंडली पर निर्भर रहना होगा। आप बिना किसी गलती के शिकार हो जाएंगे।

21 अप्रैल, 2023 से 04 सितंबर, 2023 तक:अच्छा भाग्य

“जन्म गुरु” को पार करने के लिए बधाई। 28 जून, 2023 तक राहु मेष राशि पर अश्विनी नक्षत्र में होगा और केतु स्वाति नक्षत्र में होगा; फिर तुला राशि पर चित्रा नक्षत्र में चला जाएगा। 17 जून, 2023 को शनि कुंभ राशि में वक्री होगा। आपका खराब स्वास्थ्य अब ठीक हो जाएगा। आपके द्वारा की गई मेहनत के लिए पहचान मिलेगी।  अब आपकी आर्थिक स्थिति काफी बेहतर हो जाएगी।

04 सितंबर, 2023 से 04 नवंबर, 2023 तक:वित्तीय समस्याएं

बृहस्पति मेष राशि में वक्री होगा और शनि कुंभ राशि में वक्री होगा। राहु इस गोचर के अंतिम चरण में मेष राशि पर अश्विनी नक्षत्र में और केतु तुला राशि पर चित्रा नक्षत्र में होगा।  आपको विशेष रूप से अधिक आर्थिक समस्या का सामना करना पड़ सकता है। इस दौरान स्टॉक ट्रेडिंग और किसी भी अन्य जोखिम भरे ट्रेडिंग से दूर रहें।

4 नवंबर, 2023 से 30 दिसंबर, 2023 तक:स्वास्थ्य और रिलेशनशिप की समस्याएं

आपके 12वें भाव में शनि चिंता और तनाव पैदा करेगा।  चूंकि लंबी अवधि में बृहस्पति का गोचर अच्छा दिख रहा है, इसलिए अपने कार्यस्थल पर अच्छा प्रदर्शन कर रहे होंगे। भले ही काम का दबाव रहेगा, लेकिन उन्हें मैनेज कर लेंगे। आपको दिसंबर 2023 तक या 2024 के शुरुआती महीनों में अगले लेवल पर प्रमोशन दियाजाएगा। कारोबारी लोगों को औसत बढ़त दिखाई देगी। आपकी आर्थिक स्थिति औसत है।

3 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *